इनकमटैक्स का छापा,लालू का ट्वीट व राजनीति में भूचाल

Latest Politics Society

बीडीएन,पटना. इनकमटैक्स विभाग द्वारा मंगलवार को एनसीआर में 22 ठिकानों पर छापेमारी की गयी. इनमें राजद लालू प्रसाद के ठिकाने शामिल हैं. छापा दिल्ली में पड़ा पर पटना की राजनीति में गरमाहट आ गयी. छापेमारी की सूचना आने के बाद दोपहर में लालू प्रसाद ने ट्वीट किया. अपने पोस्ट में लिखा कि बीजेपी को नये एलाएंस पार्टनर्स मुबारक हो. लालू प्रसाद झुकने और डरनेवाला नहीं है. जब तक आखिरी सांस है, फांसीवादी ताकतों से लड़ते रहेंगे. लालू प्रसाद के इस ट्वीट को लेकर राजनीति गरम हो गयी. आखिर बीजेपी को कौन नया एलायंस पार्टनर मिल गया. कुछ राजनीतिक पंडित इसे सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान से जोड़कर देखने लगे. अटकलें लगने लगी कि  बीजेपी के साथ कहीं जदयू का एलाएंस  तो नही हो रहा है.  टीवी चैनलों पर चलनेवाले बहस का मुद्दा भी बदल गया. हालांकि बाद में लालू प्रसाद ने अपने ट्वीटर पर इसकी सफाई भी दी और राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा को मीडिया के सामने स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया. प्रवक्ता ने कहा कि लालू प्रसाद ने बीजेपी का एलायंस आटी, इनमकमटैक्स और इडी से है जो लालू प्रसाद को प्रताड़ित करने का काम कर रहा है.
इधर छापेमारी की खबर सुनकर राजद के कद्दावर नेता लालू प्रसाद के पटना आवास 10 सर्कुलर रोड पर पहुंचने लगे. रघुवंश प्रसाद सिंह और प्रभुनाथ सिंह ने इस इनकम टैक्स के छापे को पूरी तरह से राजनीतिक करार दिया. उन्होंने कहा कि यह एक तरफा कार्रवाई है. भाजपा पटना में 27 अगस्त को होनेवाली रैली को लेकर लालू प्रसाद को तरह-तरह से परेशान कर रही है. शिवानंद तिवारी ने भी कहा कि यह पूरी तरह से बदले की कार्रवाई है. यह पूछे जाने पर कि नीतीश कुमार का इस मामले पर क्या स्टैंड है शिवानंद तिवारी ने कहा कि जो लोग उनको पहले से जानते हैं उनको मालूम है. नीतीश जी यह बात स्पष्ट कर चुके हैं कि दल अलग-अलग है तो उनका स्टैंड भी अलग हो सकता है. नोटबंदी पर लालू प्रसाद का स्टैंड अलग था जबकि नीतीश कुमार का अलग. इसी तरह से इवीएम पर लालू प्रसाद का स्टैंड अलग था और नीतीश कुमार का अलग. जब प्रभुनाथ सिंह से नीतीश कुमार के स्टैंड की बात पूछा गया तो उनका जवाब था कि वह इस मामले पर पार्टी में रखेंगे. हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट किया कि महागठबंधन अटूट है. बाद में लालू प्रसाद ने भी महागठबंधन को लेकर ट्वीट किया. लालू प्रसाद ने अपने पोस्ट में लिखा कि ज्यादा लार मत टपकाओ, महागठबंधन अटूट है. अभी तो समान विचारधारा के और दलों को साथ जोड़ना है. मैं बीजेपी के सरकारी तंत्र व सरकारी सहयोगियों से नहीं डरता. आरएसएस -बीजेपी को लालू के नाम से कंपकपी छूटती है. इनको पता है कि लालू इनके झूठ,लूट और जुमलों के कारोबार को ध्वस्त कर रहा है तो दबाव बनाओ. पूंजीपतियों के सरगनाओं सुनो गरीबों का समर्थन और शुभ आशीर्वाद मेरे साथ है. लालू न हारा है न थका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *