27 अस्पतालों पर लटकेगा ताला, पॉल्युशन कंट्रोल बोर्ड का डंडा

Health Society

बीडीएन,पटना

स्टेट पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने राज्य के 27 अस्पतालों पर ताला लटकाने का निर्देश दिया है. इन अस्पतालों द्वारा पर्यावरण के मानको का पालन नहीं किया जा रहा था. अस्पताल के संचालकों द्वार अस्पताल से निकलनेवाले जैविक कचरे का उचित तरीके से न तो ट्रीटमेंट किया जा रहा था और नहीं उसका निस्तार किया जा रहा था. बोर्ड ने संबंधित जिलों के सिविल सर्जनों को निर्देश दिय है कि वह इन अस्पतालों को 15 दिनों का समय दें. एक पखवाड़े में अस्पताल अपने यहां भर्ती मरीजों का किसी अन्य अस्पताल में प्रबंधन करा ले. 15 दिनों के बाद पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले अस्पतालों का बिजली कनेक्शन काट दिया जायेगा.

पॉल्युशन बोर्ड ने पर्यावरण के नियमों की उल्लंघन कर चलाए जा रहे उद्योगों ही नहीं बल्कि अस्पतालों नर्सिंग होम पैथोलॉजिकल जांच और अन्य स्वास्थ्य केंद्रों से पैदा होने वाली या निकलने वाले जीव चिकित्सा के सामग्री को लेकर सख्त निर्णय लिया है.  अस्पताल के कचरे को समुचित ढंग से निपटारा नहीं करने से मिट्टी और जमीन के अंदर जल के दूषित होने का खतरा बना रहता है. प्रदूषण नियंत्रण परिषद ने स्वास्थ्य केंद्रों के संचालकों को इन अस्पताल के कचरे को निपटाने के लेकर चेतावनी भी दी थी.

अधिक  बेड वाले अस्पतालों में नियमावली के अनुसार गीले रसायन के निपटारे के लिए उपचार संयंत्र ईटीपी की स्थापना करना आवश्यक है. ऐसे अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्र में पैथोलॉजीकल जांच घरों में जैविक कचरे का अलग अलग ना तो बंटवारा किया जाता है और ना ही इसका निस्तारण किया जाता है. इसको लेकर परिषद द्वारा पिछले अप्रैल महीने से अब तक करीब 263 अस्पतालों का इंस्पेक्शन किया. इंस्पेक्शन के आधार पर सभी से शो कॉज पूछा गया था. पर्यावरण नियमों का उल्लंघन करने के कारण क्यों न उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाए. इस दिशा में अस्पताल के संचालकों द्वारा संतोष पद कार्रवाई नहीं करने पर 111 अस्पतालों के और सही जवाब नहीं देने के कारण शिकायत पत्र दायर किया गया. इन 111 इकाइयों में से 27 इकाइयों को राज्य में संचालित कॉमन बायो मेडिकल वेस्ट ट्रीटमेंट फैसिलिटी के निस्तारण नहीं करने के चलते शो कॉज किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *