विषाक्त भोजन खाने से 2 की मौत

Crime Latest

विजय कुमार,रक्सौल

विषाक्त भोजन खाने से रक्सौल प्रखंड के भेलाही पंचायत के मुशहरवा गाव के महादलित टोले के चैत पासवान की पुत्री कीनू कुमारी (9 वर्ष) व जोगिंदर पासवान की पुत्री चांदनी कुमारी (10 वर्ष) की डंकन अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है।जबकि, नीलम देवी (पत्नी- प्रदीप पासवान ) व योगेंद्र पासवान का पुत्र सचिन कुमार की स्थिति नाजुक बनी हुई है।दोनों का आपस मे भाभी और देवर का सम्बंध रखते हैं।उधर, दोनों बच्चों के शव को बीती रात्रि ही अंत्येष्टि कर दिए जाने की खबर है।इससे कई सवाल उठ खड़े हुए हैं।मौत का रहस्य गहरा गया है।पुलिस ने इस मामले में योगेंद्र पासवान की पत्नी प्रभा देवी को डंकन अस्पताल से हिरासत में ले कर पूछ ताछ की है।शव की स्थिति व मामले की छानबीन के लिए भेलाही ओपी प्रभारी राजीव रंजन सिंह के नेतृत्व में पुलिस कार्यवाही शुरू कर दी गई है।खुद डीएसपी राकेश कुमार इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं।उन्होंने डंकन अस्पताल में पीड़ितों की स्थिति देखी।गावँ तक पहुच कर खुद पड़ताल भी की।पीड़ित गरीब परिवार के हैं।
वैसे,इस मामले में दो बच्ची की मौत से प्रशासन सकते में है। प्रशासन मीडिया को कुछ भी बताने से बच रही है ।सीओ हेमेंद्र कुमार भी गावँ पहुच कर स्थिति का जायजा लिया।भोजन में विष की गुथी सुलझ नही सकी है।कि भोजन में किसी ने जहर मिला कर घटना को अंजाम दिया।या,कोई दुर्घटना हुई।बता दे कि मंगलवार की देर शाम मुशहरवा गाँव मे विषाक्त भोजन सेवन से दो बच्ची की मौत तब हो गई ।जब,परिजनों ने घर मे बने रोटी को खाया।इस घटना में एक महिला नीलम जो 6 माह के पेट से है ।सहित एक अन्य बच्चा गंभीर अवस्था मे डंकन हॉस्पिटल में इलाजरत है। हॉस्पिटल के जन सम्पर्क अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि कल देर शाम 9 बजे के लगभग 4 इलाज को हॉस्पिटल में लाये गए। जिसमे से एक बच्चे की मौत हो चुकी थी।एक कि मौत उपचार के क्रम में हो गई।अन्य दो का इलाज चल रहा है।जिसमे,नीलम खतरे से बाहर है।जबकि,सचिन की स्थिति नाजुक है।उसे आईसीयू में रखा गया है।प्रदीप और चैत दोनो जनकपुर में चिवड़ा फैक्ट्री में काम करते हैं।जबकि,योगेंद्र गोरखपुर में रिक्शा चलाता है।लिहाजा,घर मे कोई पुरुष मौजूद नही था।घटना से गावँ में मातम का आलम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *